Tag: काम की उचित और मानवीय स्थितियों और मातृत्व राहत के लिए प्रावधान (अनुच्छेद 42) (समाजवादी सिद्धांत):

सूक्तियां एवं सुभाषित | Swami vivakanand part -2

‘इहलोक’ और ‘परलोक’ यह बच्चों को डराने के शब्द हैं। सब कुछ ‘इह’ या यहां ही है। यहां, इसी शरीर में, ईश्वर में जीवित और गतिशील रहने के लिए सम्पूर्ण…

सहकारी समितियों को बढ़ावा देना (अनुच्छेद 43ख) (समाजवादी और गांधीवादी सिद्धांत)

राज्य सहकारी समितियों के स्वैच्छिक गठन, स्वायत्त कामकाज, लोकतांत्रिक नियंत्रण और पेशेवर प्रबंधन को बढ़ावा देने का प्रयास करेगा। नागरिकों के लिए समान नागरिक संहिता (अनुच्छेद 44) (उदार/बौद्धिक सिद्धांत): राज्य…

श्रमिकों के लिए जीवन निर्वाह मजदूरी आदि (अनुच्छेद 43) (समाजवादी और गांधीवादी सिद्धांत)

राज्य उपयुक्त कानून या आर्थिक संगठन या किसी अन्य तरीके से, सभी श्रमिकों, चाहे कृषि, औद्योगिक या अन्य, को काम, जीवनयापन योग्य मजदूरी, काम की स्थितियां सुनिश्चित करने का प्रयास…

काम की उचित और मानवीय स्थितियों और मातृत्व राहत के लिए प्रावधान (अनुच्छेद 42) (समाजवादी सिद्धांत):

राज्य काम की उचित और मानवीय स्थितियाँ सुनिश्चित करने और मातृत्व राहत के लिए प्रावधान करेगा।